motivational hindi kahaniyan

 motivational hindi kahaniyan -तुरंत motivation मिलेगा आपके kids को :

इस post मे motivational hindi kahaniyan है kids ke liye, agar ये सब kahaniyan apke kids को सुनाओगे तो उनको जल्दी motivate kar सकोगे। तो ye सब motivational hindi kahaniyan ko jarur परे।

1.आलसी गधा(Lazy donkey ) ka एक motivational hindi kahaniyan :


Story : अलसी गधा (Lazy donkey):

➡️भोला(vola ) के पास Sinhay  नामक एक गधा (gadha ) था । भोला एक बहुत सहिष्णु और दयालु master था ।

भोला गधा को बहुत प्यार करता tha. ओर वो bahut अच्छे से गधा का khayal rakhta tha.  ओर gadha ko समय पर खाना bhi देता था।

लेकिन गधा आलसी था और हमेशा काम से बचने के तरीके dhunta tha.

➡️Ek bar भोला अपने गॉव से दूर ek गॉव मे business ke मामले मे gaya था aur साथ में अपना gadha को bhi ले gaya tha. 
Lazy donkey short story moral ke sath
➡️लौटने के समय vola उसके पीठ पर नमक के भार उठाया था, लेकिन gadha, load, सेहीसे संभाल नेही पाया और फिर नदी मे गिर गया ।

फिर गधा को पता चलता है कि गिरावट ने बोरे के वजन को कम कर दिया है क्योंकि नमक पानी में चला गया है। 

इसके बाद से vola जभी business ke लिए jane के bad आने का समय sinhay के पीठ के ऊपर नमक का भर देता था तो sinhay जानबूझकर usko लेकर पानी में गिर जाता था ।

➡️Sinhay के इस व्यवहार से vola bahut नाखुश tha क्योंकि Sinhay प्का इस काम के bajase उनका business me bahut loss हो raha था ।

वह Sinhay को एक सबक सिखाने का फैसला करता है।

फिर एक दिन जब business के मामले मे दूसरे गॉव गया था, उस दिन bahase लौटने के समय वो Sinhay के पीठ मे namak का बोरी ke बदले बदले एक cotton का load उसके पीठ मे दिया था।

Sinhay  इस परिवर्तन से अनजान था । जैसा बो हर रोज आने का समय करता था बैसा ही उस दिन भी वह पानी में फिर गिर जाता है, और बोरी गीले हो जाता है।

लेकिन इस बार लोड काम होने के बजह ज्यादा हो गया था और वह असहनीय लोड से हैरान हो raha था क्युकी उस लोड को संभाल na उसके लिए बहुत मुश्किल हो raha था ।

➡️ Vola भी उसे सबक सिखाने के लिए मारने लगता हैं क्युकी वो जा नेही रहाथा ।

Sinhay अपना सबक सीखता है और इसके बाद से वो जभी लोड लेकर atatha तो बो ठीक से ही आता था।

➡️Lazy donkey (अलसी gadha )story का नैतिक(moral ):

ईमानदार बनो और ईमानदारी के साथ काम करो क्योंकि आलस्य आपको बर्बाद कर सकता हे।

Read more :

2. पेड़ (tree) aur दो bhai का motivational hindi kahaniyan


Story : एक पेड़ और दो bhai(A tree and two brother )

➡️बहुत साल पहले Amal ओर Samal दो भाई, गर्मियों मे ek दिन साथ चल रहाथा। वो दोनो उनका एक दोस्त के पास जा रहाथा।

घर से दोनो सुबहा सुबहा, निकाल गया था। ओर दोस्त के बहा jane ki लिए जल्द जल्दी चलने लगा था।

कुछ देर जाने ke बाद गर्मी तेज़ हो raha था, लेकिन फिर भी वो दोनो गर्मी ka परवाह करते na हुए आगे बरने लगा ऐसा करके वो ओर कुछ रास्ता jachuka tha.


➡️लेकिन garmi फिर ओर तेज़ हो गया था, ओर दोनोका जो भी खाना था सब ख़तम हो गया tha. पानी भी नेही था bottle मे।

Undono फिर सोचने लगा ओर कितने  दूर जाना होगा, फिर दोनो को पता चला अभी भी 3 घंटा जाना पड़ेगा. लेकिन इस हालत मे दोनो के लिए ही जाना बहुत मुश्किल tha.

फिर दोनो सामने एक पेड़ को dekha. ओर फिर bahape थोड़ी देर रुकने ka ओर आराम करने का फैसला kya.
Ek ped aur do bhai ki kahaniya
➡️दोनो ही पेड़ के पास जाके उसके निचे पेड़ के छाए मे सो गया था । पेड़ के निचे थोड़ी देर सोने के बाद  दोनोको थोड़ा अच्छा लगा, फिर कुछ समय बाद दोनो उठके खाने के लिए पेड़ मे fruits dhunne लगा।

लेकिन बहुत dhunne के बाद भी जब दोनो को कुछ नेही मिला तब  एक ने दूसरे से कहा, "यह कितना बेकार पेड़ है"।

इसमें फल या नट नहीं हैं जिन्हें हम खा सकते हैं और हम किसी भी चीज़ के लिए इसके लकड़ी का भी उपयोग नहीं कर सकते हैं।

खाना नेही मिलने के कारण दोनो ko bahut गुस्सा aya था और दोनो मिलकर पेड़ का टहनिआ तोड़ने लगा था ।

➡️ इतने कृतघ्न मत बनो, जवाब में जंगली पेड़ ने कहा । लेकिन पेड़ का बात कोई भी नेही सुना दोनो ने सारे टहनिआ तोर दिया, ओर फिर ये सब करने के बाद दोनो ko भूक ओर प्यास और ज्यादा लगने लगा।

सूरज भी head ke upar tha इसलिए गर्मी bhi बहुत तेज़ tha. लेकिन इस समय na तो दोनो ke पास खाना tha na पानी ओर na tha पेड़ का छाया।

दोनो ka हालत bahut kharap ho gaya tha.

इस हालत मे देखके पेड़ ने कहा "आप दोनो ko खाना नेही milatha लेकिन आराम करने का जगह तो मिला था जो आप दोनो ko इस हालत मे थोड़ी राहत दे सकता था, लेकिन तुम दोनो उसे भी ख़तम kar diya. कुछ भी na होने से अच्छा हे कुछ होना. 

➡️ नैतिक: 

इस दुनिया मे सब चीज का कुछ importance he tumko एक चीज मे सबकुछ नेही मिल sakta.  जितना भी मिलरहा है उससे ही खुश रहना सीखो।


3.Ek  कौवा  ka motivational hindi kahaniyan:


Story :प्यासे कौवा(The Thirsty Crow )


➡️गर्मी मे ek दिन, एक प्यासे कौवा  पानी की तलाश में खेतों में उड़ गया। लंबे समय तक, बहा कोई नहीं मिला। वह बहुत कमजोर महसूस kar raha था , लगभग सभी आशा खो दिया था ।

अचानक, उसने पेड़ के नीचे एक पानी ka jug  देखा। वह देखने के लिए सीधे नीचे उड़ गया कि अंदर कोई पानी था या नहीं। हाँ, वह jug के अंदर कुछ पानी देख pa रहाथा !

कौवा ने अपने सिर से jug ko धकेलने की कोशिश की।
The thirsty crow kahaniya hindi mai.

➡️अफसोस की बात है, उसने पाया कि जग की गर्दन बहुत संकीर्ण है। फिर उसने पानी को बहने के लिए उस jug ko push करने लगा लेकिन फिर भी कुछ नेही हुआ क्युकी jug बहुत भारी था।

कौवा थोड़ी देर के लिए सोचा। फिर उसने  चारों ओर देखा, और उसने कुछ पत्थर देखा। उसे अचानक एक अच्छा विचार आया ।

उन्होंने एक-एक करके पत्थर ko उठाना शुरू कर दिया, प्रत्येक को जग में मरने लगा।

➡️ ऐसे मरते मरते कुछ समय बाद jug थोड़ा सा फट gaya था और उससे पानी थोड़ा थोड़ा निकाल ने लगा tha।

कुछ समय बाद जब थोड़ा सा पानी जमा हुआ तब कौवा उसे पिने लगा जो कौवा ke लिए bahut था। उसकी योजना ने काम किया था! 

➡️नैतिक(moral):

sehise सोचोगे तो आपको भी किसी भी समस्या का समाधान मिल सकता है।
Read more:
Agar apko ye 3 latest  motivational hindi kahaniyan pasand aya hai to please ye 3 latest motivational hindi kahaniyan ko jarur share kare. Aisa latest motivational hindi kahaniya पड़ने ke liye हमारे site मै jarur visit kare.

Post a Comment

Please do not enter any spam link and bad messages in the comment box.

नया पेज पुराने