दुष्ट barber की दुर्दशा

दुष्ट barber की दुर्दशा :Birbal ने kaise barber ko sabak सिखाया था? 


दुष्ट barber की दुर्दशा एक मजेदार कहानी हे, जहा बोला गया हे Birbal ने kaise barber ko अच्छी sabak सिखाया था। आप दुष्ट barber की दुर्दशा की इस कहानी को जरूर पड़े। 


कहानी :दुस्ट barber की दुर्दशा(the wicked barber's plight) :

▶️बीरबल सम्राट अकबर का  पसंदीदा मंत्री था ,लेकिन उसका तेज़ बुद्धि और ज्ञान के कारण, ज्यादातर आम लोग भी उसे बहुत प्यार करता था।


बहुत सारे लोग व्यक्तिगत मामलों पर सलाह के लिए बहुत दूर दूर से उनके पास आता  था। 


लेकिन अकबर के कुछ मंत्री था जो बीरबल से बहुत जलता था क्युकी अकबर उसे बहुत प्यार करता था और ज्यादा से ज्यादा आम लोग भी बीरबल को पसंद करता था। 


उन सभी मंत्रियो ने अकबर के  सामने, बीरबल का बहुत नाम करता था क्युकी उनलोगो को लगता था की अगर सम्राट के सामने बीरबल का बदनाम करेंगे तो सम्राट उन सभी पे असंतुष्ट होगा, लेकिन अंदर अंदर सब बीरबल को मरने का plan सुरु कर दीया था । 


▶️एक दिन उन मंत्रियो ने एक योजना के साथ king's barber से संपर्क किया। Barber राजा के बहुत करीब tha  , सबने उन्हें स्थायी रूप से बीरबल से छुटकारा पाने में मदद करने के लिए कहा।

और सबने उसे बदले में बहुत सारे पैसे देने का वादा किया।
दुष्ट barber की दुर्दशा
बार्बर

दुष्ट barber बहुत सारे पैसे की लालच मे, आसानी से उनको मदत करने के लिए सहमत हुआ। फिर ek दिन Akbar ने उसे कुछ काम से उसे बुलाया था, तब barber सम्राट के साथ सम्राट के पिता के बारे में बातचीत शुरू दी । 

फिर उन्होंने राजा को खुश करने के लिए, राजा की fine, रेशमी-चिकनी बालों की प्रशंसा की। और फिर कुछ बात करने का बाद,  एक विचार के रूप में उन्होंने raja से पूछा -


 "आप इस तरह की महान समृद्धि का आनंद ले रहेहो ,केया अपने आपका पूर्वजों की कल्याण के लिए कुछ किये हो? 


▶️राजा इस तरह की बात सुनकर,  barber पर क्रोधित हुआ, और फिर barber को बताया -

 कुछ भी करना संभव नहीं है उनके लिए, क्योंकि बो बहुत साल पहले ही मर चूका हे , अगर जिन्दा होता तभी तो मैं कुछ कर पता । 


Phir Barber ने akbar ko bola कि, वो इस काम मे उनको  मदत कर सकते है। फिर barber ने raja को बोला कि वह एक जादूगर के बारे में जानते हे, जो इस काममे उनको मदद कर सकता हे। 


उसने फिर बोला -
"जादूगर अपके पिता के कल्याण के बारे में पूछताछ के लिए एक व्यक्ति को स्वर्ग तक भेज सकता हे, लेकिन निश्चित रूप से उस व्यक्ति को ध्यान से चुनना होगा; उन्हें जादूगर के निर्देशों का सेहीसे और तुरंत निर्णय लेने के लिए पर्याप्त बुद्धिमान भी होना होगा। वह बुद्धिमान, बुद्धिमान और जिम्मेदार भी होना होगा।

Barber ने उसके बाद उस काम को करने के लिए सबसे अच्छे व्यक्ति का सुझाव दिया - सभी मंत्रियों के सबसे बुद्धिमान, Birbal।

दुष्ट barber की दुर्दशा
▶️राजा अपने मृत पिता से उनके कल्याण के बारे मे सुनने के लिए बहुत उत्साहित था और बो इस काम को जल्दी सुरु करने के लिए कहा।

उसने उससे पूछा कि इस काम को करने के लिए और क्या करना होगा।

Barber ने समझाया कि बो बिरबल को burial grounds में जुलूस के साथ ले जायेगा और एक चिता मे उसे daldega ।

जादूगर तब कुछ 'मंत्र' का जप करेगा उसके बाद  बीरबल smoke के माध्यम से स्वर्ग में चला जाएगा। Chanting बीरबल को आग से बचाने में मदद करेगा।

राजा ने खुशी ख़ुशी इस योजना के लिए बीरबल ने कहा कि उसने यह एक बहुत ही शानदार विचार सोचा है,क्युकी उसे patatha की ये कोई साजिश है उनके बिरोध मे,  फिर उसने इस idea के पीछे कौन है ये जानना चाहा।

जब birbal सुना ki ये barber ki idea है, फिर उसने स्वर्ग मे जाने के लिए सहमती दे diya।

फिर उसने राजा को बोला ki इस काम के करने लिए unko बहुत सारे पैसा देना होगा, साथी साथ उने एक महीने का time dena hoga। राजा दोनो सर्त पर राजी हो गया । 

 ▶️इस एक महीने में, पहले उसने कुछ भरोसेमंद आदमी को बुलाया और फिर,अंतिम संस्कार की जगह से उसके घर तक एक सुरंग बनाने के बोला ।ऐसे करके जब एक महीने निकल गया।

फिर जब उनका सब काम हो गया, एक  दिन उसने राजा को जाके बोला की वो सर्ग मे जाने की लिए तैयार हे।
Akbar birbal aur barber
अकबर, बीरबल और बार्बर 

फिर उसे burial ground मे ले जाया गया। उसे burial ground  ले जाने के बाद उसे चिता मे उठाया गया था, फिर उसने चालाकी से सुरंग की मदत से bahase भाग गया था, और फिर सुरंग की रास्ते से अपने घर मे चला आया था।


फिर उसने अपने घर में गायब हो गया था, बहा उन्होंने कुछ महीनों तक छुपा था ,उस समय उसके बाल और दाढ़ी लंबे और unruly हो गया था।

▶️इस बीच उनके दुश्मन जो उनसे बहुत जलते थे वो बहुत ही आनन्दित हो रहे था। क्योंकि सबने सोचा था कि बो सभी बीरबल को कभी भी देख नहीं पायेगा।

और वो शांति से रह पायेगा। फिर एक दिन,कई महीनों बाद, बीरबल राजा के पिता की खबर के साथ उनका महल में पौछा। 

राजा उसे देखकर बहुत खुश हुआ था और बो उसे बहुत सारे questions करने लगा था,अपने पिता के बारे मे जानने के लिए।


बीरबल ने राजा को बताया कि उनके पिता बेहतरीन आत्माओं में हे बास उन्हें एक चीज  को छोड़कर सभी आराम प्रदान किया gaya है । 


राजा जानना चाहा कि क्या कमी है , क्योंकि उन्होंने सोचा की बो उस चीज को उनके पिता तक पौंचा सकता हे कियुकी चीजों और लोगों को स्वर्ग में भेजने के लिए उनको तरीका मिल गया हे।

Birbal ने उत्तर दिया कि वहाँ स्वर्ग में कोई barber नहीं है ,इसी कारण से उनके beard बहुत बारी हो गयी है. 

 और फिर birbal ne कहाँ की बो एक अच्छी  barber मांगी है । तो राजा ने स्वर्ग में अपने पिता के  सेवा करने के लिए अपना खुद का barber भेजने का फैसला किया।

उन्होंने barber और जादूगर दोनों को बुलाया। फिर जादूगर को barber को स्वर्ग मे भेजने के लिए कहा। 

बार्बर अब कुछ भी नहीं bolsakta था खुदको बचाने ke लिए,  क्योंकि वह अपने ही जाल में फाँस चूका था और बो जानता था की अगर बो raja को सब बात बोलेगा भी फिर भी raja उसे नेही छोड़ेगा। 

Read more :
और फिर एक दिन barber को burial ground मे le जाया गया, और फिर उसे चिता मे जलाया गया, वह बहा पर मर गया।

उसके बाद से कोई भी बीरबल के खिलाफ, फिर से काम करने की हिम्मत नहीं कर रहा था। क्युकी barber का ये परिणाम देखने के बाद सब बहुत डर गया था।  

✡️हमें लगता हे की आपको दुष्ट barber की दुर्दशा कहानी को पड़के अच्छा लगा हे। अगर आपको अच्छा लगा हे ये दुष्ट barber की दुर्दशा ki  kahani तो please 🙏🙏 इस post  ko share kare। 

Post a Comment

Please do not enter any spam link and bad messages in the comment box.

नया पेज पुराने