akbar aur birbal ki kahani

akbar aur birbal ki kahani-बीरबल की खिचड़ी:

akbar aur birbal ki kahani  को लेकर 
इस post को लिखा गया हे। यंहा दो सबसे अच्छा akbar aur birbal ki kahani हे। 

1.Story : बीरबल की खिचड़ी (Birbal ki khichdi) :

➡️"सर्दियों मे एक दिन, अकबर और बीरबल ने झील के पास टहलने गया था। टहलते टहलते  बीरबल को एक विचार आया, उसने बोला-
"एक आदमी पैसे के लिए कुछ भी करसकता है "। 

उन्होंने अकबर के पास  अपने भावनाओं को व्यक्त किया। अकबर ने फिर अपनी अंगुली को झील में डाल दिया और तुरंत ही बहासे  इसे हटा दिया क्योंकि पानी बहुत ठंड था और बो cold से कांप रहा था।
akbar aur birbal ki kahani
पानी के अंदर आदमी 
➡️अकबर पानी को देखते हुये कहा,
"मुझे नहीं लगता कि एक आदमी इस झील के ठंडे पानी में पैसे के लिए पूरी रात बिताएगा।"
बीरबल ने उत्तर दिया-
"मुझे यकीन है कि मैं ऐसा व्यक्ति भी find कर सकता हूं।"

अकबर ने फिर बीरबल को ऐसे व्यक्ति को खोजने में चुनौती दी और कहा कि वह उस व्यक्ति को हजारों सोने के सिक्कों के साथ पुरस्कृत करेगा अगर बो ये काम कर सकता है तो । 


बीरबल ने तब बहुत दूर तक dhunne लगा  जब तक कि उन्हें एक गरीब आदमी नहीं मिला जो उस चुनौती हर हाल मे पूरी कर सकता है  ।

फिर कई समय बाद अकबर ने एक गरीब आदमी को पाया जो पैसे की बहुत जरुरत थी और जो पैसे के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार था।बीरबल ने उसे ले आया।और फिर उस आदमी ने झील में प्रवेश किया।

और अकबर ने यह सुनिश्चित करने के लिए की उस आदमी ने पूरा रात पानी मे था, उसने bahape एक guard को रखके चला गया। 

अगली सुबह जब अकबर ने नींद से उठा तो guard ने गरीब आदमी को अकबर के पास ले गया। 

फिर अकबर ने गरीब आदमी से पूछा कि क्या उसने सहिमे झील में पूरा रात बिताई थी। गरीब आदमी ने जवाब दिया कि "ha" उसने पूरा रात bahape था।

अकबर ने गरीब आदमी से पूछा कि वह पूरा रात झील में इतने cold मे kaise बिताया।

फिर गरीब आदमी ने जवाब दिया कि पास मे ही एक सड़क पर एक lamp जल रहा था,और उसने अपना ध्यान lamp के और रखा था, ना की ठंड के ऊपर ।

अकबर ने तब कहा कि गरीब आदमी,सड़क के lamp की गर्मी से ही झील मे पूरा रात बिताने मे kameab हुआ।और फिर गरीब आदमी को उसका rewards नहीं दिया गया।

akbar aur birbal ki kahani  को पड़ने के बाद निचे diye गये popular post को bhi pade:
गरीब ने रोना सुरु कर दी और फिर उस आदमी ने मदद के लिए बीरबल के पास दौर के गया।बीरबल ने उस आदमी को शांत hone के liye bola।

फिर बीरबल ने सोचना चालू किया की kaise वो उस आदमी को अपना rewards पाने मे madat कर sakta hai।

अगले दिन, बीरबल court में नहीं गया।फिर राजा जब court मे आया तो उसने बीरबल को नहीं देखा,  राजा सोच रहा था कि वह कहाँ है , फिर उसने बीरबल की घर पर एक दूत भेजा।

दूत बीरबल की घर पर गया और फिर bahase आके कहा कि बीरबल उनका  Khichri (चावल) को पकने के बाद आएगा।

राजा ने घंटों इंतजार किया लेकिन बीरबल नहीं आया। अंत में, राजा ने बीरबल के घर जाने का फैसला किया और फिर बहा जाने के लिए रवाना हुआ ये देखने के लिए कि वह क्या कर रहा है । 
Birbal ki khichdi image

उन्होंने बहा जाके देखा की बीरबल कुछ जलती हुई टहनियों के पास floor पर बैठे है और khichri (चावल) से भरे हुये एक bowl को आग से पांच फीट ऊपर लटका दिया है ।


राजा और उसके कर्मचारी मदद नहीं करा, लेकिन ये सब देखके हसने लगे। 


➡️Akbar ने तब बीरबल से कहा -
"अगर khichdi ki bowl आग से इतनी दूर है तो khichdi (चावल) कैसे होगा ?"

फिर बीरबल ने उत्तर दिया,
"कियु नहीं होगा अगर एक आदमी को उससे बहुत दूर,  रास्ते मे जलती हुई एक lamp से गर्मी milsakta है, और वो उस गर्मी के कारण इतना cold पानी मे पूरा रात बिता sakta hai तो ये भी हो sakta hai।"

राजा ने अपनी गलती को समझा,  और गरीब आदमी को उसका इनाम दे दिया।

बीरबल की खिचड़ी(Birbal ki khichdi)  story का नैतिक :

आशा की एक छोटी किरण उस व्यक्ति को प्रेरित करने के लिए पर्याप्त है, जो अपने सपने को वास्तविकता में बदलने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार होता है।

😂😂😂

2.Story-बीरबल ने बच्चे को जन्म दिया(Birbal gave birth to child):


एक बार सम्राट अकबर के महल में कोई घायल हो गया था।फिर उनका treatment के लिए royal Vaidya(वैद्य) को बुलाया गया था।

फिर उन्होंने उस आदमी को देखके सुझाव दिया कि यदि ऊंट(camel)का दूध घाव पर देंगे,  तो यह जल्द ही ठीक हो जाएगा।

सम्राट अकबर ने अपनी court में इसकी घोषणा की, कि उसे ऊंट के दूध की जरूरत है।

हर कोई यह सुनकर आश्चर्यचकित था लेकिन कुछ भी नहीं कह सकता था। ऐसे करके कुछ दिन बीत गए, लेकिन किसी को  भी ऊंट का दूध nehi मिला। 

सम्राट ने अपनी court में इसकी घोषणा की, कि उसे ऊंट के दूध की जरूरत है। हर कोई यह सुनकर आश्चर्यचकित था लेकिन कुछ भी नहीं कह सकता था। ऐसे करके कुछ दिन बीत गए, लेकिन किसी को  भी

फिर बीरबल को यह काम सौंपा गया था। बीरबल ने सम्राट को समझाने के लिए अपनी पूरी कोशिश की, उसने bola कि ऊंट के दूध, aisa कोई चीज नहीं है, लेकिन अकबर ने कहा -
जब राज वैद्य ने ऊंट के दूध के बारेमे  कहा है, तो ऊंट ka दूध जरूर milega

कहीं से भी लाओ। Birbal बहुत परेशान हो गया। वह घर गया और सोचने लगा की वो सम्राट को कैसे बतायेगा  कि ऊंट के दूध जैसी कोई चीज नहीं है।

▶️इस बारेमे सोचकर उसका कुछ दिन बीत गया  था लेकिन फिर भी,बीरबल court में नहीं जा रहा था । अकबर बहुत चिंतित हो गया था उसने सोच रहा था की-
"बीरबल के साथ कुछ हुआ है क्या ?

उन्होंने दूत को उसका घर मे भेजा, यह देखने के लिए,  कि वह court मे क्यों नहीं आ रहा है ।

जब वह वहां गया, तो वह बाहर बीरबल ka बेटी को देखा जो बिरबल का कपड़े धो रहा था।

  उसने नौकर को बधाई दी। नौकर ने उससे पूछा -
बीरबल को क्या हुआ है वह court में कियु नहीं आ रहा है?

Birbal का बेटी ने जवाब दिया -
कल रात बीरबल एक बच्चे का जनम दिया है।

akbar aur birbal ki kahani पड़ने के बाद निचे diye गये post bhi पड़े :
दूत ने इस बात को हजम nehi कर पाया फिर वह वापस आया और उसने सम्राट को उस बात को बताया।

सम्राट भी इसे समझ नहीं सका, इसलिए उसने खुद Birbal का घर janeka फैसला किया और सच्चाई को  पता करने के लिए ।

सम्राट ने जब उसका घर गया तो बीरबल ने उसे उसे बधाई दी। सम्राट ने उससे पूछा -
बीरबल, यह क्या है? क्या एक आदमी एक बच्चे का जन्म दे सकता है?
Birbal विनम्रता से जवाब दिया -
Huzoor, जब एक ऊंट दूध दे सकता है, तो एक आदमी बच्चे का जन्म क्यों नहीं दे सकता?

सम्राट समझ गया था की उससे गलती हो गया hai । फिर उन्होंने अपने महल में लौट आया था और अपने आदेश रद्द कर दिया था।

✡️अगर आपको ये दो  akbar aur birbal ki kahani  पसंद आया हे तो please 🙏🙏aap इस post को share करें, और aisa और बहुत सारे akbar aur birbal ki kahani पड़ने के लिए इस साइट mai जरूर visit करें। 

Post a Comment

Please do not enter any spam link and bad messages in the comment box.

नया पेज पुराने