हिंदी में तेनाली राम की कहानी

हिंदी में तेनाली राम की कहानी-Tenali rama ne kaise raja ki bagiche se brinjal ko churaya था?


हिंदी में तेनाली राम की कहानी पड़ने के लिये ये post बहुत अच्छा हे। Iss post मै आपको हिंदी में तेनाली रामा की कहानी मिलेगा जहाँ बोला गया हे तेनाली राम kaise राजा की बगीचे से स्वादिस्ट बैंगन को चुराया था।

Story :तेनाली राम और बैंगन करी(Tenali Rama and the brinjal curry):

Sri Krishna Devaraya  Vizayanagra के सम्राट था । उसके पास आठ सलाहकार(adviser ) था । तेनाली राम(Tenali Rama)उनमें से एक था। वो बहुत चालाक और spontaneous  था।

Hindi mai tenali rama ki kahani
बैंगन(Plants)

Sri Krishna Devaraya के बगीचे में कुछ विशेष प्रकार के बैंगन पौधे(Brinjal plants) था । उस type का brinjal बहुत दुर्लभ था, और इससे बने करी बहुत स्वादिष्ट होता था, जो सम्राट बहुत pasand करता  था। क्युकी यह एक दुर्लभ प्रकार का पौधों था, इसलिए बगीचे ka बहुत अच्छा तरीके से खयाल रखा जाता था।


और किसी को भी सम्राट की अनुमति के बिना पौधों को देखने की अनुमति नहीं थी। एक बार सम्राट ने अपने सलाहकारों के लिए dinner ka बंदोबस्त कीया था, और उस dinner mai बैंगन करी भी था।


 तेनाली राम ने बैंगन करी का आनंद लिया और फिर खाना हो जाने के वाद घर aya था । बैंगन करी इतना अच्छा बना था की वह उसका स्वाद को भूलने में असमर्थ था। घर मे आके उसने अपनी पत्नी को करी के स्वाद के बारे में बताया।


तेनाली राम की पत्नी को भी बैंगन करी बहुत पसंद था , इसलिए उसने उसका पति को  कुछ बैंगन लाने के लिए कहा ताकि वह बैंगन करी तैयार कर सके। 


लेकिन उसको पता था कि, सम्राट बैंगन के पौधों को बहुत अच्छे तरीके से देखभाल कर हे , और वह आसानी से अपने बगीचे से कोई brinjal लापता हुआ है या नेही,  ये पता लगा सकता है । और, सम्राट इस तरह के चोर को दंडित करेगा, अगर वो बैंगन को उसके बगीचे से चुरा लिया तो । 

हिंदी में तेनाली राम की कहानी को पड़ने के बाद निचे
दिए गये popular post ko भी पड़े :

लेकिन तेनाली राम की पत्नी ने उन्हें किसी को बताए बिना बगीचे से बैंगन लाने के लिए अनुरोध किया। तेनाली राम के पास सम्राट के बगीचे से बैंगन को चोरी करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। एक रात वह बगीचे में चला गया, aur फिर इधर उधर देखा की कोई है की नेही।


फिर उसने दीवार पर चार गया aur phir bahase कूद के बगीचे मे चला गया बहा जाके कुछ बैंगन लिया aur फिर bahase घर मे चला आया । 


God की कृपा से, किसी ने भी उसे नहीं देखा था। जब बो brinjal लेकर घर आया तब उनकी पत्नी ने बैंगन को पकाया और फिर करी बनाया, इस बार उनकी पत्नी की हात से बनाय हुई करी भी बहुत स्वादिष्ट बना था ।


सभी माताओं की तरह, वह भी अपने बेटे को बहुत प्यार करता था, और बैंगन के करी को उसे खिलाना चाहता था। 


परन्तु तेनाली राम ने उसके पत्नी को ऐसा नहीं करने के लिए कहा, क्योंकि,  अगर उन का बेटे ने किसी को भी बता दिया कि उसने एक दुर्लभ प्रकार की बैंगन करी खाया है , तो बो पकड़े जा सकते हैं,  और उन्हें बगीचे से बैंगन चोरी करने के लिए दंडित भी किया जा सकता हैं।


लेकिन उनकी पत्नी इस बात से  सहमत नहीं थी। वह अपने बेटे को बैंगन का करी को खिलाना चाहता था । वह अपने छोटे बच्चे, जो अपने घर की छत पर अपना homework करने के बाद सो रही थी उसको खिलाये बिना अकेले बैंगन के करी को खाने से इनकार कर रहा था। 


उसने उसका पति को कोई उपाय खोजने के लिए कहा ताकि उनका बेटा भी बैंगन करी का स्वाद ले सके।


 तेनाली राम भी अपने बेटे को बहुत  प्यार करता था, वो भी अपने बेटे के बिना खाने मे असमर्थ था, इसलिए उन्होंने कुछ सोचा और फिर बहुत हिचकिचाहट के साथ  छत पर चला गया, aur phir उसने अपने बच्चे के ऊपर एक बाल्टी पानी डाल दिया उसे उठाने के लिये ।

Tenali Rama and the brinjal curry story in hindi
तेनाली राम का बेटा 


जब बच्चा जाग गया तो उसने कहा -

"बाहर बारिश हो रही है। चलो घर के अंदर जाओ और रात का खाना khalo। "


कमरे के अंदर जाने के बाद उन्होंने अपने बेटे के कपड़े को बदल दिया और उसे dinner करने को बोला, aur dinner मे उसे चावल और बैंगन करी दिया। फिर तेनाली राम ने अपनी पत्नी को जोर से बताया कि-

" बाहर बहुत बारिश हो रही है , खाना खाने के बाद लड़के को कमरे में सुला देना "।


फिर अगले दिन, सम्राट को पता चला कि उनके बगीचे से कुछ बैंगन गायब है ।


 Gardener जो प्रत्येक सब्जी और फूल को गिनकर रखता था,उसने बताया कि तीन बैंगन गायब है । यह सम्राट के लिए एक चुनौतीपूर्ण मुद्दा बन गया था और उन्होंने इसे बहुत गंभीरता से लिया। उन्होंने उस व्यक्ति के लिए एक इनाम घोषित किया जो चोर को पकड़ सकता है।


मुख्य सलाहकार Appaji ने संदेह किया कि ये केवल तेनाली राम ही ऐसी चीजें करने में सक्षम है । 


और उन्होंने सम्राट को इसके बारे में बताया। सम्राट ने अपने courtiers को भेजा, और तेनाली राम को  तुरंत court मे आने के लिए कहा। फिर जब वो court मे आया तो उसने उसको लापता बैंगन के बारे में पूछा। तब तेनाली राम ने बताया-

"मुझे लापता बैंगन के बारे में पता नहीं है। "


तब मुख्य सलाहकार ने बताया-

"तेनाली राम झूठ बोल रहा है, फिर बोला चलो आपके बेटे से पूछताछ करते हैं "।


राजा ने तेनाली राम के बेटे को लाने के लिए अपने courtiers को भेजा। जब Tenali Rama  का बेटा राजमहल आया, तो उसने पूछा कि-

"आखिरी रात को खाने में केया सब्जी खाया था।"


"बच्चे ने जवाब दिया, "बैंगन की करी और वो बहुत स्वादिष्ट था"। 


तब सलाहकार ने तेनाली राम को बताया कि अब Tenali Rama को अपने अपराध को स्वीकार करना चाहिए । लेकिन तेनाली राम ने कहा कि, उनका बेटा बहुत जल्दी सो गया था,  और वह जो कुछ bhi कह रहा है वह सायद सपने में dekha हे ।


फिर सम्राट ने छोटे बच्चे से पूछा कि-

"क्या आप कृपया स्पष्ट रूप से समझा सकते हैं, कि, आपने कल स्कूल से आने के बाद क्या किया था?


उसका बेटा ने जवाब दिया -

"स्कूल से आने के बाद, मैंने कुछ समय के लिए खेला था और उसके बाद मैं छत पर गया था , अपना homework किया था , और फिर छत पर ही सो गया था।"


फिर बोला -

" लेकिन जब बारिश शुरू हुआ था तब मेरे पिता आया था   और उन्होंने मुझे जगाया था । उस समय मेरी पोशाक पूरी तरह से गीली हो गयी थी, फिर हम अंदर गए थे , रात का खाना खाया था और फिर से सो गाया था "।


मुख्य सलाहकार Appaji  चौंक गए थे क्योंकि कल बिल्कुल भी बारिश नहीं हुआ था। और वातावरण भी पूरी तरह से सूखा था। इसलिए उन्होंने सोचा की बच्चे ने कोई सपना ही देखा है,  और फिर बिना किसी दंड के तेनाली राम को मुक्त कर दिया गया था ।


हालांकि, बाद में तेनाली रामा  ने सम्राट को सच्चाई बताया था, लेकिन सम्राट उनका उस चालाक witty विचार के लिए उसे क्षमा कर दिया था ।


नैतिक:

शुरू करने के लिए - चोरी करना एक अच्छी बात नहीं है! आप हमेशा अपने मस्तिष्क का उपयोग कर सकते हैं और कठिन परिस्थितियों से बाहर आ  सकते हैं।


हिंदी में तेनाली राम की कहानी को पड़के निचे दिए गये post को भी पड़े :

  1. New rajkumar rajkumari ki kahani
  2. Raja aur rani ki hindi kahani.

➡️हमें लगता है की आप इस post को पड़के बहुत खुश हुये हो, तो please🙏🙏 ये हिंदी में तेनाली राम की कहानी को जरूर share kare और ऐसा हिंदी में तेनाली राम की कहानी पड़ने के लिये हमारे site मै रोज visit kare.

Post a Comment

Please do not enter any spam link and bad messages in the comment box.

नया पेज पुराने